.पनामा पेपर लीक मामले में पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने पीएम नवाज़ शरीफ दोषी करार देते हुए बर्खास्त किया - AskBihar24X7 - Bihar & Jharkhand News

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

Friday, July 28, 2017

.पनामा पेपर लीक मामले में पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने पीएम नवाज़ शरीफ दोषी करार देते हुए बर्खास्त किया

पडो़सी देश पाकिस्तान में फिर छाया सियासी संकट.....पनामा पेपर लीक मामले में पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने पीएम नवाज़ शरीफ दोषी करार देते हुए बर्खास्त किया ।   पाकिस्तान के पीएम पद पर सुशोभित नवाज शरीफ ने इस्तीफा दे दिया है और अब पडोसी देश एक अंतरिम प्रधानमंत्री तलाश कर रहा है। दरअसल..........पाकिस्तान की सर्वोच्च न्यायालय की जस्टिस आसिफ सईद खोसा की अगुआई वाली 5 जजों की बेंच ने शरीफ और उनके बच्चों के खिलाफ पनामा लीक मामले में केस दर्ज करने का आदेश दिया है। ........कोर्ट ने शरीफ और पाक के वित्त मंत्री मोहम्मद इशाक डार को भी पद के लिए अयोग्य ठहराया है। सुप्रीम कोर्ट ने नेशनल अकाउंटेबिलिटी कोर्ट को 6 हफ्ते के अंदर केस रजिस्टर करने और 6 महीने में ट्रायल पूरा करने का आदेश दिया है। 3 बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रहे नवाज शरीफ और उनके परिवार पर करप्शन और मनी लॉन्ड्रिंग जैसे आरोप हैं। पाक में 2018 में आम चुनाव होने हैं। ....जस्टिस खान ने फैसले में कहा, नवाज़ शरीफ को पार्लियामेंट की मेंबरशिप से डिसक्वालिफाई किया जाता है। लिहाजा वे प्रधानमंत्री के पद पर काबिज नहीं रह सकते।... सुप्रीम कोर्ट ने नवाज के दोनों बेटों हसन-हुसैन और बेटी मरियम पर भी करप्शन का केस दर्ज करने का आदेश दिया है। .........फैसला के बाद पाकिस्तान की विपक्षी दलों खासकर  इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी ने कोर्ट के बाहर ही जश्न मनाया।........अब इंटरिम पीएम की खोज हो रही है।,,,,,,,,,नवाज शरीफ को पीएम पद से हटाए जाने के बाद उनके छोटे भाई और पंजाब के सीएम शाहबाज शरीफ के पीएम बनने के कयास लगाए जा रहे    पाकिस्तान के कोई भी पीएम अपने कार्यकाल के 5 साल पूरा नहीं कर सका है। और ये दूसरी बार है जब सुप्रीम कोर्ट ने किसी मौजूदा प्रधानमंत्री को डिस्क्वालिफाई किया। 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने यूसुफ रजा गिलानी को डिस्क्वालिफाई किया था। बहरहाल उम्मीद है कि पाकिस्तान के सियासतदां संभल जाएंगे और अवाम के हित में काम करेंगे।


                                             

No comments:

Post a Comment