Live News

गुरुवार, नवंबर 30, 2017

दलसिंहसराय अवस्थित विद्यापति धाम बिहार का देवघर कहलाता है............

बिहार के समस्तीपुर जिले के दलसिंहसराय अनुमंडल से नौ किलोमीटर दूर अवस्थित विद्यापति धाम बिहार का देवघर कहलाता है .... यह दालसिंहसाराई ब्‍लॉक के नजदीक, गंगा नदी के तट पर स्थित है..... विद्यापति नगर का नाम मैथिली भाषा के प्रसिद्ध कवि विद्यापति के नाम पर रखा गया है। एक विश्‍वास के अनुसार, भगवान शिव की खोज में इस कवि ने इस स्‍थान को खोज निकाला था.... यह मन्दिर विश्व मे एक मात्र ऐसा है , जहा भगवन और भक्त एक साथ वीराजमान है.... इस मन्दिर मे दर्शन से मन की सारी मन्नत पुरी होती है ..... इस धाम मे भगवन शिव और उनके भक्त विद्यापति जी ने एक साथ समाधि ली थी ।यह स्थान, गंगा नदी के किनारे के निकट स्थित दलसिंहराय ब्लॉक में स्थित है, का नाम सबसे प्रतिष्ठित मैथिली कवि विद्यापाटी के नाम पर है.......ऐसा माना जाता है कि इस स्थान पर प्रसिद्ध कवि ने भगवान शिव की तलाश में आखिर में सांस ली थी। मिथक के रूप में, भगवान शिव अपने साथ उगना  नामक दास की आड़ में लंबे समय से जुड़े थे.......ऐसा कहा जाता है कि वह गंगा के तट पर अपने अंतिम सांस लेना चाहते थे और इसके लिए यात्रा कर रहे थे..... लेकिन उनकी असफल स्वास्थ्य की वजह से, वह गंगा के किनारे तक पहुंचने में सक्षम नहीं थे और इसलिए नदी ने अपना मार्ग बदलकर उसे प्राप्त किया। भगवान शिव का एक बड़ा पुराना मंदिर विद्यापति धाम के नाम से जाना जाता है.........समस्तीपुर जिले के लोगो द्वारा राज्य सरकार  से लगातार पर्यटक  स्थल घोषित करने की मांग की जा रही है......
                                                 






कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Back To Top