आयुक्त पंकज पॉल ने की नवादा जिले की प्रगति की समीक्षा - Yardloo.com - Bihar & Jharkhand News

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

Wednesday, July 03, 2019

आयुक्त पंकज पॉल ने की नवादा जिले की प्रगति की समीक्षा



गया : नवादा के समाहरणालय सभागार में प्रमंडलीय आयुक्त मगध प्रमंडल, गया श्री पंकज कुमार पाल की अध्यक्षता में नवादा जिलान्तर्गत कार्यान्वित योजनाओं, परियोजनाओं एवं कार्यक्रमों के सम्पूर्ण स्थिति की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। आयुक्त महोदय के आगमन पर जिला पदाधिकारी कौशल कुमार ने गुलदस्ता देकर उनका हार्दिक स्वागत किया। इस अवसर पर जिला प्रशासन के सभी पदाधिकारी उपस्थित थे। समाहरणालय परिसर में उन्हें गॉड ऑफ ऑनर दिया गया। तत्पश्चात् बैठक की कार्यवाही शुरू की गयी। सर्वप्रथम जिलाधिकारी श्री कौशल किशोर ने उन्हें नवादा जिले के भौगौलिक स्थिति से अवगत कराया गया। बैठक को संबोधित करते हुए प्रमंडलीय आयुक्त श्री पंकज कुमार पाल ने शिक्षा विभाग को माननीय मुख्यमंत्री बिहार की योजना के अनुसार जिले के सभी पंचायतों में उच्च विद्यालय स्थापित करने के लिए जिन पंचायतों में उच्च विद्यालय नहीं हैं वहां के उत्क्रमित मध्य विद्यालय को जहां जमीन उपलब्ध है, प्राथमिकता के आधार पर उच्च विद्यालय में उत्क्रमित करने का निर्देश दिया गया।
माइनिंग विभाग की समीक्षा के क्रम में उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि माइनिंग की किसी भी शिकायत पर तुरंत कार्रवाई करें। उन्होंने सख्त निर्देश देते हुए पुलिस अधीक्षक से कहा कि अवैध खनन पर सख्ती से रोक लगाते हुए कठोरतम कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि नवादा जिले को उपर से देखने पर सिर्फ पत्थर और खाली जमीन दिखता है, कहीं हरियाली दिखाई ही नहीं पड़ती है। यहॉ पेंड़-पौधे नहीं हैं, भू-गर्भ जल नहीं है, अवैध खनन का रोक नहीं लगने पर जल शक्ति को बढ़ाया नहीं जा सकता है। उन्होंने डीएम कौशल कुमार को इसके लिए एक कमिटि बनाने का निर्देश दिया। जिला परिवहन पदाधिकारी को माईनिंग से संबंधित ओवर लोडिंग पर नियमानुसार फाइन लगाने को कहा। उन्होंने कहा कि बालू माफिया के धंधे का कमर तोड़ना होगा। पर्यावरण बचे रहने से ही हमें सांस लेने के लिए प्राण वायु एवं पीने योग्य पानी भविष्य में मिल सकेगा। बालू की कीमत निर्धारित दर से ज्यादा लेने वाले एजेंसी पर शिकंजा कसने का भी निर्देश दिया गया।
उन्होंने सड़क एवं रेलवे यातायात की भी समीक्षा की। उन्होंने खराब सड़क की मरम्मति हेतु मेंटेनेंस के मजबूती पर बल दिया। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि सड़क की स्थिति जहां भी खराब पायी जाती है, सभी पदाधिकारी व्हाट्सऐप ग्रूप बनाकर इसकी शिकायत करें एवं शिघ्र निष्पादित भी करावें।
कृषि विभाग की समीक्षा के क्रम में आयुक्त महोदय को वर्षा की स्थिति से अवगत कराया गया। जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया गया कि जिले में 7600 हेक्टेयर में धान का बिचड़ा डाला गया है। वर्तमान में वर्षा अच्छी हो रही है। वर्षा के अलावा सिंचाई के साधन पम्प सेट, नलकूप, ट्यूवबेल, आहर, पइन, जलाशय के माध्यम से सिंचाई को दुरूस्त रखने का निर्देश दिया गया। यहां के मुख्य फसल धान, गेंहूं, मक्का का पैदावार बढ़ाने संबंधी सभी उपायों को मजबूती से सुदृढ़ करने का निर्देश दिया गया।
पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए नवादा जिले के ककोलत जलप्रपात, श्री गोनावां जी जैन मंदिर, नारद संग्रहालय, सेखोदेवरा आश्रम जैसे महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल को और अधिक विकसित करने पर बल दिया गया। ताकि नवादा जिले के पर्यटन स्थल को बढ़ावा मिल सके।
उन्होंने जिले की विधि-व्यवस्था चुस्त-दुरूस्त रखने पर भी विशेष चर्चा की। उत्पाद विभाग की समीक्षा में पाया गया कि जिले में बिहार मद्य निषेध और उत्पाद अधिनियम के तहत 650 गाडि़यां जप्त की गयी है। लगभग 98 प्रतिशत शराब का विनिष्टिकरन किया जा चुका है। उन्होंने अवैध शराब के विरूद्ध छापेमारी तेज करने को कहा साथ ही परिवहन पदाधिकारी को निर्देश दिया कि जप्त गाड़ी की निलामी शीघ्र कराना सुनिश्चित करें।
वन विभाग के पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि इस वर्ष साढ़े पांच लाख पौधे लगाये जायेंगे, जिनमें पौधे की सुरक्षा का प्रबंध, बांस गैबियन, टैंकर द्वारा पटवन, सिंचाई हेतु मजदूर की भी व्यवस्था की गयी है ताकि हर वृक्ष को सींचा जा सके।
बैठक में आयुक्त महोदय को बताया गया कि माइका माइनिंग अबरक का अवैध खनन में 40 गाडि़यां जप्त की गयी हैं। गिरफ्तारियां भी की जा चुकी है। जिले के सपहीं एवं सवैया टांड़ जैसे क्षेत्र अवैध खनन से प्रभावित हैं।
उन्होंने डीआरडीए से संबंधित ओडीएफ, हर घर नल का जल, प्रधानमंत्री आवास योजना की भी समीक्षा की। हर घर नल का जल से संबंधित कार्य पीएचईडी के द्वारा दिसम्बर तक हर हाल में पूरा करने का आश्वासन दिया गया। वहीं बाल विकास परियोजना पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि सेविका एवं सहायिका का चयन पूरे निष्पक्षता पूर्वक करने का कार्य प्रगति पर है। उन्हें बताया गया कि पोषाहार का वितरण जून 2019 तक पूरा कर लिया गया है। सिविल सर्जन डॉ0 श्रीनाथ द्वारा बताया गया कि महामारी से बचने के लिए सभी पीएचसी को अलर्ट कर दिया गया है। सदर अस्पताल के वार्डों में बेड विस्तार किया गया है।
अन्त में प्रमंडलीय आयुक्त श्री पंकज कुमार पाल ने जिला स्तर के सभी पदाधिकारियों को अपने कार्यां एवं कर्त्तव्यों को सही से पालन करने का निर्देश देते हुए कहा कि प्रमंडलीय स्तर एवं जिला स्तर पर प्रतिमाह समीक्षा बैठक आयोजित की जायेगी।
बैठक समापन के दौरान डीएम कौशल कुमार द्वारा आयुक्त महोदय के दिये गए निर्देशो का पालन करने और उनके बताये गए मार्गां पर चलने का आश्वासन दिया गया।
बैठक में डीएम श्री कौशल कुमार, एसपी श्री हरि प्रसाद, उप विकास आयुक्त श्री सावन कुमार, अपर समाहर्त्ता श्री ओम प्रकाश, सिविल सर्जन डॉ0 श्रीनाथ के साथ-साथ सभी विभाग के वरीय पदाधिकारी एवं कार्यपालक अभियंता आदि उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment