Live News

बुधवार, दिसंबर 25, 2019

आयुर्वेद के क्षेत्र में बिहार का गौरवमय इतिहास रहा--राज्यपाल फागू चौहान

आयुर्वेद के क्षेत्र में बिहार का गौरवमय इतिहास रहा है |प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय का प्रारंभ ही आयुर्वेद संकाय से हुआ था | नालंदा विश्वविद्यालय के पहले कुलपति रसशास्त्र के उदभट्ट विद्वान नार्गाजुन हुए थे, जिनके कार्यकाल में रस-औषधियों का विकास व्यापक स्तर पर हुआ था| प्राचीन नालन्दा विश्वविद्यालय में सोना इत्यादि खनिज पदार्थों से औषधियां बनाकर स्वस्थ एवं दीर्घायु जीवन के लिए शोध एवं अध्ययन-अध्यापन की व्यवस्था की गई थी, जहां दुनियां के लोग ज्ञान प्राप्त करने के लिए आते थे.......महामहिम राज्यपाल फागू चौहान ने स्थानीय राजकीय आयुर्वेदिक काॅलेज के सभागार में ‘‘हर्बोमिनरल दवाओं के मानकीकरण से जुड़े हालिया दृष्टिकोण’’ विषयक राष्ट्रीय सेमिनार का उदघाटन  करते हुए व्यक्त किये

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Back To Top