Patna city--फतुहा से महारानी चौक तक नागरिकता कानून के समर्थन में निकला तिरंगा जुलूस - AskBihar24X7 - Bihar & Jharkhand News

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

Sunday, December 29, 2019

Patna city--फतुहा से महारानी चौक तक नागरिकता कानून के समर्थन में निकला तिरंगा जुलूस


नागरिकता कानून के समर्थन में निकला तिरंगा जुलूस , लोगों ने लगाये संविधान जिंदाबाद के नारे,केंद्र सरकार को दिया धन्यवाद।

फतुहा----  संसद से पारित नागरिकता कानून के समर्थन मे रविवार को विभिन्न संगठनों ने "फतुहा के प्रबुद्धजन एवं सामाजिक कार्यकर्ता संघ" की ओर से तिरंगा जुलूस फतुहा रेलवे स्टेशन से मेन रोड,गोविंदपुर,होते नगर भ्रमण करते महारानी चौक तक जुलूस निकला जंहा सभा मे तब्दील होकर लोगो ने संबोधित कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को धन्यवाद दिया।
जुलूस में समस्त समाज के प्रबुद्धजन एवं स्वयं सेवी संस्थाएं शामिल थे। लोगों ने नागरिकता कानून जिंदाबाद  बिल का सम्मान करो,  झूठी अफवाहें फैलाना बंद करो , भ्रम फैलाना बंद करो, संविधान की जय हो के नारे लगाये।
जुलूस को संबोधित करते हुए सामाजिक कार्यकर्ता किसान नेता,संजीव कुमार यादव ने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून पाकिस्तान सहित तीन पड़ोसी देशों में अत्याचार सहने के बाद भारत में शरण लेने वाले करोड़ों हिंदू-ईसाई, पारसी और जैन समाज के लोगों को मानवता के नाते नागरिकता देने के लिए हैं। यह कानून किसी भारतीय की नागरिकता को छीनने या उसके अधिकारों में कोई कटौती करने के लिए नहीं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने नया कानून बनाकर पीड़ितों को मानवाधिकार देने का पुण्य किया है, इसलिए वह बधाई की हकदार है।
श्री रामचंद्र प्रसाद संघ पदाधिकारी ने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में सभी शंकाओं का बिंदुवार निराकरण किया। इसके बावजूद कुछ दलों का इस मुद्दे पर एक समुदाय को भड़का कर अशांति फैलाने का प्रयास निंदनीय है। यह कानून मानव कल्याण की भावना से प्रेरित है
तिरंगा जुलूस में फतुहा मंडल अध्यक्ष शोभा देवी, दक्षिणी मंडल अध्यक्ष राम तीरथ सिंह , उत्तरी मंडल अध्यक्ष पारसनाथ यादव, राजेंद्र पासवान, अरविंद यादव, रामचंद्र जी, रामचंद्र प्रसाद, रामजी प्रसाद, केशव प्रसाद, अनिल शर्मा, शत्रुघ्न प्रसाद सिंह,सीताराम मेहता, कामता प्रसाद ,राकेश कुमार ,रघु पासवान, सत्येंद्र पासवान,अरविंद कुमार सहित सैकड़ों लोग शामिल थे।

         

No comments:

Post a Comment