Live News

मंगलवार, जुलाई 21, 2020

मुज़फ़्फ़रपुर में गंडक नदी में आए उफान से शहर पर बाढ़ का खतरा

मुज़फ़्फ़रपुर में लगातार बारिश से बूढ़ी गंडक नदी में आए उफान से शहर पर बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। सिकंदरपुर, अखाड़ाघाट और अहियापुर के निचले इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है। वहीं बाढ़ का पानी नए इलाकों में प्रवेश करने लगा है। लोग सुरक्षित इलाकों की ओर पलायन कर रहे हैं। प्रशासन द्वारा अखाड़ाघाट में नदी के किनारे रह रहे लोगों को हटा दिया है। इसके अलावा नदी के किनारों की झुग्गी-झोपड़ी में भी पानी प्रवेश कर गया है। मिठनसराय ,कोलुहा पैगम्बरपुर में भी बूढ़ी गंडक का पानी दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। बूढ़ी गंडक नदी के ऊफनाने से शहर पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। अब तक शहर के आसपास के करीब एक दर्जन मोहल्ले बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। सिकंदरपुर में स्लुइस गेट बंद किए जाने के बाद शहर के आसपास के नये मोहल्लों में भी बाढ़ का पानी प्रवेश करने लगा है। सिकंदरपुर में बूढ़ी गंडक का जलस्तर 52.18 मीटर मापा गया। जबकि खतरे का निशान 52.53 मीटर है। बूढ़ी गंडक में आयी ऊफान से शहर के बाहरी इलाके तेजी से बाढ़ की चपेट में आने लगे हैं। स्थिति ऐसी हो गई है पलायन कर रहे लोगो को आसपास के ऊंचे स्थानों पर किराये पर मकान तक नहीं मिल रहा है और डूबते घरों में आने जाने के लिए सरकारी नाव तक की व्यवस्था नहीं हुई है। निजी नाव से मनमाना किराया दे कर आने जाने को मजबूर है लोग।
                                                                

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Back To Top