Live News

Sunday, April 25, 2021

20 घंटे गुजर जाने के बावजूद भी संकट की इस घड़ी में साथ देने कोई नहीं आया

 बिहार के दरभंगा में पत्नी के सामने ही उसके पति की मौत हो गई.कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मौत के बाद उसके रिश्तेदारों से लेकर आस-पड़ोस के लोगों ने मुंह फेर लिया.इस दौरान वहां सिर्फ पत्नी और तीन छोटे-छोटे बच्चे थे. मजबूर और असहाय पत्नी बार-बार लोगों से मदद मांगती रही. वो रोती-बिलखती रही लेकिन किसी के हाथ उसकी मदद के लिए नहीं बढ़े. 45 वर्षीय व्यवसायी संक्रमण का शिकार होने पर अपने घर में आइसोलेशन में थे. घर में ही रह कर वो अपना इलाज कर खुद को ठीक करने में जुटे थे. लेकिन 23 अप्रैल को कोरोना ने उनकी जान ले ली.. लेकिन 20 घंटे गुजर जाने के बावजूद भी संकट की इस घड़ी में उनका साथ देने कोई नहीं आया...अंत में जब इस ह्रदय विदारक घटना की सूचना समाजसेवी नवीन सिन्हा तक पहुंची तो उन्होंने परिवार को मदद पहुंचाने को लेकर प्रयास शुरू किया..




No comments:

Post a Comment

Back To Top