Live News

Thursday, April 08, 2021

लगातार कोचिंग संस्थान बंद रहने के कारण निजी शिक्षक अब तक आर्थिक एवम मानसिक तंगी से गुज़र रहे

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को मद्देनजर रखते हुए राज्य सरकार के द्वारा आगामी 11 अप्रैल तक सभी सरकारी एवँ गैर सरकारी शिक्षण संस्थानों को बंद रखने का आदेश दिया गया था। इसी कड़ी में निजी कोचिंग संस्थानों के एक प्रतिनिधि मंडल ने जिलाधिकारी एवँ जिला शिक्षा पदाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर अपनी मांगे रखी। कोचिंग संचालकों की ओर से कहा गया कि पिछले वर्ष lockdown के कारण छात्रों की पढ़ाई समुचित तरीके से नहीं हो पाई। जिसका व्यापक असर बच्चो के परीक्षा परिणामों पर देखने को मिला। लगातार कोचिंग संस्थान बंद रहने के कारण लाखों रुपए का किराया एवँ बिजली बिल का कर्ज हो गया। शिक्षक संघ के अध्यक्ष प्रसन्न सिंह की ओर से कहा गया कि पिछले वर्ष की त्रासदी के कारण निजी शिक्षक अब तक आर्थिक एवम मानसिक तंगी से गुज़र रहे हैं।उन्होंने ज्ञापन सौंपकर जिला प्रशासन से मांग की है कि शिक्षकों की संवेदनाओं को राज्य सरकार तक पहुँचाया जाए एवँ 11 अप्रैल के उपरांत नियम एवँ शर्तों के साथ कोचिंग संचालन हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिया जाए।।






No comments:

Post a Comment

Back To Top