हजारों बच्चे को बटोर कर शिक्षा केंद्रों तक लाना आज प्रत्येक व्यक्ति का सामाजिक कर्तव्य हो गया--आचार्य सुदर्शन जी महाराज - AskBihar24X7 - Bihar & Jharkhand News

Breaking

Post Top Ad

Monday, July 05, 2021

हजारों बच्चे को बटोर कर शिक्षा केंद्रों तक लाना आज प्रत्येक व्यक्ति का सामाजिक कर्तव्य हो गया--आचार्य सुदर्शन जी महाराज

 


आचार्य सुदर्शन जी महाराज ने गरीब एवं उपेक्षित बच्चों के लिए चलाए जा रहे "हमें भी पढाओ " केंद्र के बच्चों को ऑनलाइन संबोधित करते हुए कही । आचार्य ने कहा केवल शिक्षा के माध्यम से हम सभी वर्गों के बच्चों को जोड़ सकें । इसी दृष्टि से सरकार ने "कौशल विकास योजना "शुरू की है जिसके माध्यम से शिक्षा के प्रकाश को प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचाया जा सके। क्योंकि कोई भी व्यक्ति शिक्षा इसलिए प्राप्त करना चाहता है कि उसे रोजगार मिले और जब कौशल विकास योजना के माध्यम से लोगों को रोजगार की संभावना मिलने लगेगी तो स्वत: बच्चे मुख्यधारा से जुड़ जाएंगे । इसी दृष्टि से "हमें भी पढ़ाओ" शिक्षा योजना चल रही है ताकि हर बच्चे के हाथ में स्लेट और किताबें मिल सके...आज हजारों बच्चे गली कूचियों ,बस स्टैंड और स्टेशनों पर भटक रहे हैं और बुरी संगति में पडकर  विभिन्न बुराइयों के शिकार हो रहे हैं। उन बच्चों को बटोर कर शिक्षा केंद्रों तक लाना आज प्रत्येक व्यक्ति का सामाजिक कर्तव्य हो गया है ।लॉकडाउन के कारण आज पूरी शिक्षा व्यवस्था ध्वस्त हो गई है । लेकिन हमें भी पढ़ाओ के माध्यम से हम लोग प्रयास कर रहे हैं कि इन भटकते बच्चों को बटोर कर केंद्रों तक लाए। इसलिए उन्हें स्कूल ड्रेस, किताबें, लेखन सामग्री एवं खाद्य सामग्री केंद्र की ओर से नि:शुल्क दिए जा रहे हैं ।उन्हें आकर्षित करने के लिए स्कूल बसों से प्रमुख स्थलों का दर्शन भी समय-समय पर कराया जाता है। इससे बच्चों में काफी उत्साह है ।



No comments:

Post a Comment