Live News

Thursday, January 20, 2022

"महाराणा प्रताप" की पुण्यतिथि को "राष्ट्रीय स्वाभिमान दिवस" के रूप में घोषित करे-

सामाजिक कार्यकर्ता पवन राठौर ने अपने पाटलिपुत्र कॉलोनी स्थित आवास पर "महाराणा प्रताप" की पुण्यतिथि पर महाराणा के तैलीय चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दिया। कोरोना महामारी और राज्य सरकार के कोविड गाइडलाइन के कारण सामूहिक रूप से महाराणा की पुण्यतिथि कार्यक्रम नहीं कर सका जिसका बेहद अफसोस है फिर भी जिसने मातृभूमि की रक्षा और स्वाभिमान के लिए घास की रोटी तक खाना पसंद किया ऐसे राष्ट्र के महानायक महाराणा प्रताप को आज के दिन अकेले ही सही लेकिन जरूर याद करते हुए प्रेरणा लेनी चाहिए। महाराणा प्रताप भारत भूमि के इतिहास के अमर सेनानी योद्धा थे जिसने मुगलों की पराधीनता स्वीकार नहीं किया। हल्दीघाटी के ऐतिहासिक युद्ध के बाद महाराणा प्रताप परिवार सहित जंगलों में विचरण करते हुए अपनी सेना को संगठित करते रहे इसी दरमयान घास की रोटी भी खानी पड़ी फिर भी अपनी हिम्मत, धैर्य  और स्वाभिमान नहीं खोया ।

राज कृष्णन, पटना 


ऐसे स्वाभिमानी महामानव को याद करना मेरा ही नहीं पूरी भारत भूमि पर रहने वाले लोगों का पुनीत कर्त्तव्य होना चाहिए।ऐसे विरले स्वाभिमानी की याद में पूरे राष्ट्र को स्वाभिमान दिवस के रूप में मनाना चाहिए। आगे सामाजिक कार्यकर्ता पवन राठौर ने केंद्र व बिहार सरकार से मांग की है कि महाराणा प्रताप की पुण्यतिथि को राष्ट्रीय स्वाभिमान दिवस के रूप केंद्र और राज्य सरकार घोषित करे..

No comments:

Post a Comment

Back To Top