Live News

Saturday, April 23, 2022

बाबू वीर कुंवर सिंह के प्रपौत्र की हत्या पर चुप रहने वाले मना रहे विजयोत्सव, शर्मनाक : राजू दानवीर


जन अधिकार पार्टी के युवा अध्यक्ष राजू दानवीर ने सन 1857 के नायक बाबू वीर कुंवर सिंह के बलिदान दिवस के मौके पर विजयोत्सव मना रहे देश के गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा पर सत्ता के लिए सियासत का आरोप लगाया और कहा कि जो लोग आज बाबू वीर कुंवर सिंह का विजयोत्सव मना रहा हैं, उन्हें चुल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिए। क्योंकि जब तकरीबन एक महीने पहले बाबू वीर कुंवर सिंह जी के प्रपौत्र बबलू सिंह की साजिश के तहत पुलिस ने पीट - पीट कर हत्या कर दी थी, तब वहां उनके परिवार के पास न भाजपा के सांसद गए, न विधायक और न ही सरकार के कोई मंत्री। तब वहां सिर्फ पूर्व सांसद और जनता के सेवक श्री पप्पू यादव जी गए। 


दानवीर ने कहा कि जो दल सत्ता में रहते बाबू वीर कुंवर सिंह के प्रपौत्र को न्याय नहीं दिला सका, उसके द्वारा यह विजयोत्सव हमारे महानायक का अपनमान है। 80 साल के उम्र में वीर कुंवर सिंह जी ने गोर अंग्रेजों के दांत खट्टे कर दिए थे, आज काले अंग्रेजों ने उनके वंशज को मौत के घाट उतार दिया.


.राजू दानवीर ने कहा कि यह विजयोत्सव वोट और सत्ता के लिए है। भाजपा जैसी नफरती पार्टी शहीद और उनके शहादत का मखौल उड़ाती है। दानवीर ने तकरीबन एक महीने पहले की घटना को याद कराया और कहा कि जगदीशपुर की धरती से क्रांति की धरती ने बाबू वीर कुंवर सिंह जैसे कर्मवीर दिया, जिन्होंने देश की आजादी का मार्ग प्रशस्त किया। और जब जगदीशपुर की इस धरती पर कुकर्म, बेईमानी और भ्रष्टाचार का बोलबाला होने लगा, तो बाबू कुंवर सिंह की रगों का बहने वाला खून चुप कैसे रह सकता था। 

उन्होंने कहा कि बाबू वीर कुंवर सिंह जी के पर प्रपौत्र बबलू सिंह ने फिर से जगदीशपुर की धरती से नेता, माफिया, भ्रष्ट पदाधिकारी द्वारा जनित कुकर्म से आजाद कराने की कोशिश की तो उनकी पीट - पीट कर हत्या कर दी गयी। इससे दुर्भाग्यपूर्ण और क्या हो सकता है।

राज कृष्णन, प्लस न्यूज़

No comments:

Post a Comment

Back To Top