Live News

गुरुवार, अक्तूबर 13, 2022

 गैंगस्टर को पकड़ने उत्तराखंड पहुंची उत्तर प्रदेश पुलिस की एक टीम पर हमला किया गया। इस दौरान उधम सिंह नगर के भरतपुर इलाके में स्थानीय लोगों द्वारा बुधवार शाम को फायरिंग में भाजपा नेता की पत्नी की मौत हो गई। दरअसल, यूपी पुलिस की एक टीम पर हमला किया गया था, जो वहां एक वांछित गैंगस्टर को पकड़ने गयी थी। संघर्ष में मुरादाबाद के पांच पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। इस दौरान क्रॉस फायरिंग भी हुई।

खनन माफिया जफर को पकड़ने उत्तराखंड गई मुरादाबाद जिले की पुलिस पर भीड़ ने हमला कर दिया। पुलिस पर फायरिंग की गयी और बंधक बनाकर पीटा गलिसकर्मी घायल हो गए जबकि भाजपा नेता की पत्नी की मौत हो गई। जिस वक्त फायरिंग हुई महिला ड्यूटी से लौट रही थी। घायल पांच पुलिसकर्मियों में से दो सिपाहियों की गोली लगने की वजह से है। भीड़ ने पुलिस के कब्जे से माफिया को भी छुड़ा लिया।

स्थानीय लोगों ने छीने पुलिस के हथियार: जानकारी के मुताबिक, स्थानीय लोगों के साथ-साथ यूपी पुलिस ने भी शिकायत दर्ज कराई है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मुरादाबाद पुलिस की एक टीम गैंगस्टर जफर को गिरफ्तार करने के लिए उत्तराखंड गई थी, जब उनका घेराव किया गया और उनके हथियार स्थानीय लोगों ने छीन लिए। आरोप है कि मुरादाबाद पुलिस की कार्रवाई पर स्थानीय लोगों द्वारा आपत्ति जताए जाने पर क्रॉस फायरिंग हुई।

मुरादाबाद रेंज के डीआईजी शलभ माथुर ने कहा, “गैंगस्टर जफर एक मामले में मुरादाबाद पुलिस को वांछित था और उसकी निशानदेही पर एक टीम उधम सिंह नगर पहुंची। जफर ऊधमसिंह नगर के कुंडा थाना क्षेत्र के भरतपुर क्षेत्र के एक स्थानीय निवासी के घर में घुस गया। पुलिस टीम के जवान सादे कपड़ों में थे और जब उन्होंने घर में घुसने की कोशिश की, तो उन पर कथित तौर पर हमला किया गया।”

यूपी पुलिस ने खबर मिलने पर खुद ही ऑपरेशन प्लान किया था लेकिन एनकाउंटर के दौरान माफिया ने 12 पुलिसवालों को करीब एक घंटे तक बंधक बनाए रखा। आरोपी वांछित अपराधी है जिस पर 50 हजार रुपये का इनाम है। इस बीच वह भरतपुर गांव से फरार हो गया

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Back To Top